Home भूगोल विज्ञान भी हैं हैरान यहाँ पत्थर खिसकते हैं अपने आप

विज्ञान भी हैं हैरान यहाँ पत्थर खिसकते हैं अपने आप

डेथ वैली उत्तरी अमेरिका की सबसे गर्मसूखी और विचित्र जगह है.एक ऐसी रहस्यमयी जगह जो कि पूर्वी कैलिफोर्निया में एक रेगिस्तान में स्थित हैं. यह एक रेगिस्तान है जहां पर तापमान सबसे ज्यादा रहता है. यह उत्तरी अमेरिका का सबसे गर्म, सूखा स्थान है.ये एक ऐसी जगह है जहां वैज्ञानिकों को हमेशा कुछ न कुछ चौंकाने वाली चीज मिलता रहती है. इस जगह पर सबसे ज्यादा जो चीज चौंकाती है वह है यहां के अपने-आप खिसकने वाले पत्थर. जी हां, यहां  इस रेगिस्तान के पत्थर बिना किसी की मदद के खिसकते हैं. यहाँ पत्थर अपने आप एक जगह से दूसरी जगह चले जाते हैं. जिन्हें सेलिंग स्टोन्स के नाम से भी जाना जाता है.

california death valley rolling rocks

इस घाटी में करीब 150 से अधिक पत्थर ऐसे पत्थर हैं जो सर्दियों में करीब 250 मीटर से अधिक दूर तक खिसके मिलते हैं। हालांकि, किसी ने उन्हें आंखों से खिसकते नहीं देखा।1972 में वैज्ञानिकों की एक टीम बनाई गई। टीम ने पत्थरों पर सात साल अध्ययन किया। लेकिन कुछ हाथ नहीं लगा। लेकिन वैज्ञानिक उस वक्त चौंक गए जब कुछ साल बाद उन्होंने एक अनोखा दृश्य देखा।केरीन नाम का लगभग 317 किलोग्राम का पत्थर अध्ययन के दौरान जरा भी नहीं हिला था। लेकिन जब वैज्ञानिक कुछ साल बाद वहां वापस लौटे, तो उन्होंने केरीन नाम के इस पत्थर को 1 किलोमीटर दूर पाया।हालांकि वैज्ञानिक अब तक कोई ठोस वजह का पता नहीं लगा पाए हैं कि आखिर ये पत्थर अपनी जगह से खुद-ब-खुद खिसकते कैसे हैं, लेकिन वैज्ञानिकों का यह मानना है कि किसी इंसान या जानवर के जरिए इन पत्थरों को घसीटने के सबूत नजर दिखाई नहीं देते क्योंकि वहां मौजूद मिट्टी बिना छेड़छाड़ दिखाई देती है. इसलिए संभावना जताई जाती है कि भौगोलिक बदलाव या तूफान के चलते पत्थर अपने आप खिसक जाते हैं.

आपको बता दें, रेसट्रैक प्लाया 2.5 मील उत्तर से दक्षिण और 1.25 मील पूरब से पश्चिम तक बिल्कुल सपाट है. लेकिन यहां बिखरे हुए पत्थर खुद-ब-खुद खिसकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here