यूपी का सबसे अमीर शहर कौन सा है – richest in up

भारत का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है, क्षेत्रफल के मामले में तो नहीं है. पर जनसंख्या के हिसाब से देखें तो यहां पर 2020 में तो 23 करोड़ से भी ज्यादा जनसंख्या रहती है. 1950 में इस राज्य को गठन किया गया था. जब अंग्रेजों के काल के भारत में उत्तर प्रदेश दो राज्यों में बटा हुआ था, आगरा प्रांत और अवध प्रांत में.

जिसे अंग्रेजों ने एक करके नाम दिया था यूनाइटेड प्रोविंस का. लेकिन अब जब भारत अंग्रेजों से मुक्त हो चुका है तब 1950 में उत्तर प्रदेश का नए सिरे से गठन किया गया और इसे नाम दिया गया उत्तर प्रदेश का. पर उत्तर प्रदेश भारत के सबसे अमीर राज्यों में से नहीं गिना जाता है. बल्कि उत्तर प्रदेश को भारत के सबसे पिछड़े राज्यों में से गिना जाता है.

यहां के लोगों की आमदनी बहुत ज्यादा कम है और उत्तर प्रदेश के गरीब होने पर भी हमें यह जानना चाहिए कि उत्तर प्रदेश में सबसे अमीर लोग आखिर रहते कहां पर है. उत्तर प्रदेश का सबसे अमीर शहर कौन सा है तो चलिए जानते हैं…

up ka sabse amir shahar –

उत्तर प्रदेश का सबसे अमीर जिला अगर कोई है तो वह है गौतमबुधनगर जिला जिसे आप नोएडा के नाम से भी जानते हैं. यहां के लोग साल भर में ₹3,68,000 तो कमा ही लेते हैं. जो कि उत्तर प्रदेश के साथ ही पूरे भारत भर में सबसे ज्यादा है. कारण यह है कि यह दिल्ली एनसीआर के क्षेत्र में आता है.

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा महानगर – biggest city in up

जहां पर बहुत सारी इंडस्ट्रीज बनी हुई है. यहां पर इंफ्रास्ट्रक्चर बहुत अच्छे हैं. सड़के और बिजली की सुविधाएं बहुत ही ज्यादा अच्छी है. नोएडा के बाद उत्तर प्रदेश का दूसरा सबसे अमीर जिला मेरठ है जहां के लोग हर साल ₹90,000 तो कमा ही लेते हैं. यानी जीडीपी पर कैपिटा मेरठ की ₹90,000 है. मेरठ दिल्ली एनसीआर के क्षेत्र में आता है. इसलिए यहां पर बहुत सारी इंडस्ट्रीज बनी हुई है.

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा मंडल – mandals of up

मेरठ बहुत ही ज्यादा जनसंख्या वाली जगह है. जहां पर बहुत ज्यादा कामगर आसानी से मिल जातें है. उत्तर प्रदेश का तीसरा सबसे अमीर जिला आगरा है. जहां के लोग 1 साल में ₹70,000 तो कमा ही लेते हैं यानी per capita इनकम यहां पर ₹70,000 है. गाजियाबाद भी आगरा के बराबर ही कमा लेता है. गाजियाबाद के लोग 1 साल में ₹68,000 कमा लेते हैं.

उत्तर प्रदेश का सबसे गरीब जिला कौन सा है

और आपने यह बात ध्यान दिया हो तो आप ध्यान देंगे कि उत्तर प्रदेश का कोई भी पूर्वी जिला पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिले की बराबरी नहीं कर सकता। पूर्वी जिला यानी पूर्वांचल बहुत ही ज्यादा पिछड़ा है. बल्कि भारत के सबसे पिछड़े क्षेत्रों में गिना जाता है.

उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा गांव कौन सा है

यूपी का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कौन सा है

पूर्वांचल का श्रावस्ती जिला तो भारत के सबसे ग़रीब जिलों में से गिना जाता है. यहां तक कि बड़े-बड़े धार्मिक स्थल, जो कि पूर्वांचल में है जैसे बनारस इलाहाबाद और अयोध्या जैसी नगरी वहां पर भी लोग बहुत ही ज्यादा गरीब है. कानपुर के लोग 1 साल में से ₹75,000 तक कमा लेते हैं. जो कि उत्तर प्रदेश के मध्य भाग में आता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here