भारत का सबसे ओवररेटेड और अंडररेटेड शहर कौन सा है

वैसे तो भारत में बहुत सारे शहर है. लेकिन आजादी के बाद से भारतीयों ने केवल एक ही शहर को अपने दम पर विकसित कर पाया है, वह चंडीगढ़ हैं. भारत में जितने शहर है उसे या तो अंग्रेजों ने बसाया है मुगलों ने या वो पुराने ऋषियों ने बसाया। और यह जो शहर बसे भी हुए है इनमें बहुत सारी गंदगी में फैली हुई है.

कुछ शहर तो वास्तव में बहुत ज्यादा बुरे होने के बावजूद भी मीडिया में दिनभर छाए रहते हैं. भले से ही उन शहरों में कुछ भी खास क्यों ना हो और कुछ शहर तो ऐसे हैं जो बहुत ही ज्यादा अच्छे और बहुत ही ज्यादा वेल प्लैंड है फिर भी मीडिया के द्वारा उन शहरों को कोई भी तवज्जो नहीं दिया जाता है.

जब भारतीय लोग ही उस शहर के महत्व को नहीं समझते हैं तो और किससे आशा. चलिए एक बार यह जानते हैं कि भारत में सबसे अंडररेटेड और ओवरटेक शहर कौन से हैं…

भारत का सबसे ओवररेटेड शहर –

भारत का सबसे ओवररेटेड शहर अगर कहा जाए तो वह मुंबई है. जहां सही मायने में देखें तो ऐसी कोई भी सुविधा नहीं है. जिसके आधार पर इसे इतना महत्व दिया जाए. मुंबई बहुत ही ज्यादा छोटा शहर है. जो कि मात्र 603 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है. लेकिन यहां जनसंख्या ऐसी भरी हुई है मानो जैसे एक छोटे से पैकेट में सामान को ठूंस ठूंस के भरा गया हो.

यहां पर यात्रियों की सुविधा के लिए कोई भी मेट्रो ट्रेन नहीं बनाई गई है. लोकल ट्रेन चलती है जो कि यात्रियों के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है. सांस लेने के लिए जगह भी इस ट्रेन में नहीं रहता है. साथ-साथ मुंबई की सड़कें भी उतनी अच्छी नहीं है.

इंडिया का सबसे बड़ा राज्य अलग अलग दृष्टि से

मुंबई शहर की प्लानिंग बिल्कुल भी अच्छी नहीं है. बारिश हो जाने पर मुंबई की कई इलाके पानी से भर जाते हैं. साथ ही यहां पर अगर कोई व्यक्ति बाहर जाकर रहना चाहे तो उसे इतनी गंदी परिस्थितियों में रहना पड़ता है, चॉल जैसी जगहों पर. जहां पर साफ सफाई की व्यवस्था बिल्कुल भी नहीं होती है. तो मेरे हिसाब से मुंबई भारत का सबसे ओवररेटेड शहर है.

भारत का सबसे अंडररेटेड शहर –

सही मायने में कहें तो भारत में अंडररेटेड शहर बहुत सारे हैं. जिनमें किसी एक को चुनना बहुत ज्यादा कठिन है. लेकिन कुछ शहरों के नाम आपको बता कर यह साबित करना चाहता हूं कि भारत में कई शहरों की कितनी ज्यादा अनदेखी किया गया है.

भारत में सबसे ज्यादा रबड़ का उत्पादन कहां होता है

जैसे भारत में सबसे अंडररेटेड शहर है गुवाहाटी जोकि पहाड़ों के बीच में बसा बहुत ही सुंदर नगर है. लेकिन यहां पर कभी उतना ध्यान नहीं दिया गया. ठीक उसी तरह हिमालय की तलहटी पर बसा चंडीगढ़ भारत के सबसे अंडररेटेड शहर में गिना जा सकता है.

चिलगोजा कहा मिलता है – pine nut in hindi

यहां सब कुछ प्लान है, यहां बहुत ज्यादा हरियाली है. हर एक सेक्टर में एक न एक पार्क जरूर है. साइकिल के लिए ट्रैक है. केरल का तिरुअनंतपुरम भी बहुत ही ज्यादा सुंदर है. जो कि पहाड़ों के बीच बसा हुआ है. लेकिन इतना महत्व नहीं दिया गया.

भारत में कितने राज्य हैं – how many states in india 2020

उसी तरह उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ बिल्कुल हरियाली और प्लेन लैंड पर बसी हुई है. उस पर भी लोगों ने कभी भी सही मायनों में ध्यान नहीं दिया है. इसीलिए उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ को में एक अंडररेटेड शहर का हिस्सा माना जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here