Home Top 5 भारत का सबसे बड़ा बाँध

भारत का सबसे बड़ा बाँध

49

टिहरी बाँध, उत्तराखण्ड

उत्तराखंड में भारत का सबसे ऊंचा और विशाल टिहरी बांध है। एशिया के दूसरे सबसे ऊंचे और दुनिया के आठवें सबसे ऊंचे बांध का कीर्तिमान भी टिहरी के नाम ही दर्ज है। यह बांध 857 फीट (260.5 मीटर) ऊंचाई का है, जबकि इसकी लंबाई 575 मीटर है। इससे 2400 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है।

उँचाई: 260 मीटर
लंबाई: 575 मीटर
नदी: भागीरथी नदी
जलाशय: टिहरी झील
स्थान: उत्तराखंड
जलाशय क्षमता: 2,100,000 acre⋅ft

भाखड़ा बाँध, हिमाचल प्रदेश

भारत का दूसरा सबसे बड़ा बांध भाख़ाम नांगल अपनी खूबसूरती के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। हिमाचल प्रदेश और पंजाब की सीमा पर सतलुज नदी पर बने इस बांध की बेहद खूबसूरत बनावट और  शिवालिक पहाड़ों की हरियाली इसकी खूबसूरती में चार-चांद लगाने का काम करती है। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने 1963 में 225 मीटर ऊंचे और 520 मीटर लंबे इस बांध को देश को समर्पित किया था।

उँचाई: 226 मीटर
लंबाई: 520 मीटर
नदी: सुतलेज नदी
जलाशय: गोबिंद सागर झील
जलाशय क्षमता: 7,501,775 acre⋅ft
स्थान: हिमाचल प्रदेश

हीराकुंड बाँध, उड़ीसा

दुनिया के सबसे लंबे बांधों में से एक हीराकुद ओडीशा के संबलपुर में है। महानदी पर बने इस बांध की लंबाई 26 किलोमीटर है, जो देश का सबसे लंबा और दुनिया के लंबे बांधों में से एक का रिकॉर्ड स्थान रखता है। 1956 में बने इस बांध से सिंचाई की जरूरतों को काफी बेहतर तरीके से पूरा किया जाता रहा है।

उँचाई: 60.96 मीटर
लंबाई: 25.8 किलो मीटर
नदी: महानदी
जलाशय: हीराकुंड झील
स्थान: उड़ीसा
जलाशय क्षमता: 4,779,965 acre⋅ft

सरदार सरोवर बाँध, गुजरात

गुजरात की नर्मदा नदी पर बना सरदार सरोवर बांध अपनी खूबसूरती के लिए जितना प्रसिद्ध है, उतना ही ज्यादा इस पर विवादों का साया रहा है। लोगों के विस्थापन को लेकर इस बांध पर काफी विवाद हुआ और मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद लोगों के विस्थापन के मामले को सुलझाया गया और बांध का भी निर्माण कार्य पूरा हो पाया। इस बांध की ऊंचाई 163 और लंबाई 1210 मीटर है।

उँचाई: 163 मीटर
लंबाई: 1,210 मीटर
नदी: नर्मदा नदी
स्थान: गुजरात
जलाशय: सरदार सरोवर झील
जलाशय क्षमता: 7,701,775 acre⋅ft

नागार्जुन सागर बाँध, आँध्र प्रदेश/तेलंगाना

आधुनिक तकनीक से बना नागार्जुन सागर बांध अपनी मजबूती के साथ-साथ अपनी भव्य बनावट और खूबसूरती के लिए भी प्रसिद्ध है। आंध्र प्रदेश के नलगोंडा जिले में कृष्णा नदी पर बना यह बांध आंध्र प्रदेश के लिए सिंचाई का अहम साधन है। नागार्जुन सागर डैम की ऊंचाई 124 मीटर और लंबाई 1450 मीटर है।

उँचाई: 124 मीटर
लंबाई: 1,450 मीटर
नदी: कृष्णा नदी
स्थान: आँध्र प्रदेश
जलाशय: नागार्जुन सागर झील
जलाशय क्षमता: 9,371,845 acre⋅ft

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here