दुनिया का सबसे बड़ा रेगिस्तान कौन सा है

सबसे बड़ा रेगिस्तान – पूरी पृथ्वी विविधताओं से भरी पड़ी हुई है. पूरी पृथ्वी पर तरह-तरह के भौगोलिक परिस्थितियां मौजूद है.

कहीं समुद्र है, कहीं विशाल महासागर है कहीं ऊंचे ऊंचे पहाड़ है तो कहीं समतल मैदान

और इन्हीं भौगोलिक स्थितियों में से एक है मरुस्थल यानी रेगिस्तान का होना।

एक ऐसी जगह जहां पर कोई भी पेड़ पौधे नहीं होते जहां मनुष्य नहीं रहता है.

यहां कोई जीव रहना पसंद नहीं करता क्योंकि ऐसी जगह पर पानी के कोई स्रोत नहीं रहते।

जमीन रेतीली रहती है मिट्टी का अभाव रहता है जो पेड़ पौधों को वहां पर उगाने में सक्षम हो सके.

इसीलिए पृथ्वी के ऐसे जगहों को मरुस्थल कहा जाता है. मरुस्थल मतलब जहां पर रहना मरण के समान है मृत्यु की भूमि।

आपको इस आर्टिकल में बताएंगे दुनिया का सबसे बड़ा रेगिस्तान कहां पर है और वह कौन सा है चलिए आपको बताते है…

भारत की भौगोलिक स्थितियां

दुनिया का सबसे बड़ा रेगिस्तान –

दुनिया का सबसे बड़ा रेगिस्तान उत्तरी अफ्रीका का सहारा रेगिस्तान है जिसे सहारा मरुस्थल के नाम से भी जाना जाता है.

यह पूरे उत्तर अफ्रीका में 90,65,000 किलोमीटर स्क्वायर के क्षेत्र में फैला हुआ है.

जो कि बहुत बड़ी भूमि है इतने बड़े देश तो केवल चीन और अमेरिका ही है.

इसके अलावा कनाडा और रूस भी इनसे बड़े हैं.

तमिलनाडु की राजधानी क्या है

लेकिन इतनी बड़ी भूमि पर रेगिस्तान का होना मतलब बहुत बड़ी भूमि को मनुष्य से वंचित कर देना

जो पूरी तरीके से वीरान जगह है दूर-दूर तो केवल रेत ही रेत है. दिन में बहुत ज्यादा गर्म और रात में बहुत ज्यादा ठंडा।

आप समझ सकते हैं कि दूर दूर तक मनुष्य का कोई नामोनिशान नहीं है यहां पर.

दूसरे नंबर पर बात करें तो ऑस्ट्रेलिया का मरुस्थल दुनिया का दूसरा सबसे खतरनाक मरुस्थल है.

दुनिया की सबसे बड़ी मस्जिद कहाँ हैं

जो कि बहुत बड़ा है यह 27,00,000 किलोमीटर स्क्वायर के क्षेत्र में फैला हुआ है.

जो लगभग भारत से थोड़ा ही छोटा है. लगभग कजाकिस्तान के बराबर हैं।

तीसरे नंबर पर है अरब का सबसे बड़ा रेगिस्तान जो कि 23,30,000 किलोमीटर स्कॉयर के क्षेत्र में फैला हुआ है.

इंडिया का सबसे बड़ा मॉल कौन सा हैं

यह भी बहुत बड़ा रेगिस्तान है. ये पूरे सऊदी अरब में यह फैला हुआ है.

दूर-दूर तक कोई मिट्टी का नामोनिशान इसलिए यहाँ हरियाली नहीं है.

अगर ठन्डे प्रदेशों को भी जोड़ दो तो अंटार्टिका विश्व का सबसे बड़ा मरुस्थल है.

जो कि 1 करोड़ 40 लाख किलोमीटर स्क्वायर क्षेत्र में फैली हुआ हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here