Home अन्तरिक्ष शनि ग्रह के कुछ रोचक तथ्य – saturn facts – Saturn in...

शनि ग्रह के कुछ रोचक तथ्य – saturn facts – Saturn in hindi

सौरमंडल का छठवां ग्रह शनि (saturn in hindi) अपनी विशेष संरचना के लिए प्रसिद्ध है विशेषकर अपने छल्लो के लिए।

बृहस्पति की तरह यह भी पूरा गैसीय वातावरण से बना हुआ है।

ऐसे ही कुछ रोचक तथ्य शनि ग्रह के बारे में आज मैं आपको बताने वाला हूं तो चलिए जानते हैं………

saturn planet in hindi

1. पृथ्वी से 9 गुना बड़ा (Saturn in hindi)

शनि ग्रह (Saturn) आकार में पृथ्वी से 9 गुना बड़ा है।

शनि ग्रह 58,232 किलोमीटर की त्रिज्या में फैला हुआ है।

और यह सौरमंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह है।

यदि शनि ग्रह की भर की बात करें तो शनि ग्रह का mass पृथ्वी से 95 गुना तक ज्यादा है।

2. 1 दिन पृथ्वी के 10 घंटे और 40 मिनट का

शनि (Saturn in hindi) पर 1 दिन पृथ्वी के 10 घंटे और 40 मिनट का होता है।

इसका मतलब शनि ग्रह अपने अक्ष पर बहुत तेजी से घूमता रहता है।

शनि ग्रह पर 1 साल पृथ्वी के 29.4 साल के बराबर होता है।

जो कि पृथ्वी के 10,755 दिन के बराबर हैं।

3. बिना किसी उपकरण के भी देख सकते हैं

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि आप शनि (Saturn in hindi) को पृथ्वी से ही बिना किसी उपकरण के भी देख सकते हैं।

यह सौरमंडल का पांचवा सबसे चमकीला ग्रह है।

4. पूरा गैस से बना हुआ है (Saturn in hindi)

शनि ग्रह (Saturn) बृहस्पति की तरह एक गैस जायंट है। जो कि पूरा गैस से बना हुआ है।

शनि ग्रह मुख्यतः हाइड्रोजन हीलियम अमोनिया और मीथेन जैसे गैसों से मिलकर बना हुआ है।

शनि ग्रह का Core यानी centre लोहा निकिल और सिलिकॉन के चट्टानों से बना हुआ है,

जो कि धातु हाइड्रोजन की परत से ढका हुआ है।

इसके ऊपर मध्यम परत लिक्विड हाइड्रोजन का और बाहरी परत गैस से बना हुआ।

Saturn in hindi

5. तेजी से चलती रहती हैं

शनि ग्रह (saturn planet in hindi) पर हवायें बहुत ही तेजी से चलती रहती हैं। इसका कारण शनि का अपने अक्ष पर बहुत तेजी से घूमना है।\

शनि पर हवाएं 1800 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चलती रहती हैं।

जो कि बृहस्पति पर चलने वाली हवाओं से ज्यादा तेज है पर नेपच्यून यानी वरुण पर चलने वाली हवाओं की रफ्तार से कम है।

बृहस्पति ग्रह की जानकारी

6. सूर्य से छठे नंबर पर आता है

शनि (Saturn) सूर्य से काफी दूर है, यह क्रम से सूर्य से छठे नंबर पर आता है।

इससे दूर केवल यूरेनस और नेपच्यून ही है। क्योंकि शनि सूर्य से दूर है,

इसलिए शनि का तापमान बहुत ही कम रहता है। शनि के सतह का तापमान -178 डिग्री सेल्सियस है।

7. शनि का छल्ला मात्र 20 मीटर तक ही मोटा है

आपने हमेशा से ही शनि ग्रह (Saturn in hindi) की गोलाई में यानी चारों ओर छल्ला जैसी आकृति देखी होगी।

कहने का मतलब शनि के रिंग्स से है। और आपको मैं इससे जुड़ी कुछ बातें बताता हूं। शनि ग्रह का

छल्ला मात्र 20 मीटर तक ही मोटा है और शनि ग्रह से 6,630 किलोमीटर से लेकर

1,20,700 किलोमीटर तक की दूरी तक फैला हुआ है।

इस छल्ले में 93 प्रतिशत बर्फ के अत्यंत ही महीन पार्टिकल है और 7% कार्बन के चट्टान के छोटे-छोटे टुकड़े हैं।

8. कुल 62 चंद्रमा हैं

शनि (saturn planet in hindi) के कुल 62 चंद्रमा हैं जो कि सौरमंडल में किसी भी ग्रह के पास सबसे ज्यादा चंद्रमा की संख्या में दूसरे नंबर पर है।

शनि से ज्यादा चंद्रमा बृहस्पति के पास है, वृहस्पति के कुल 69 चंद्रमा हैं।

शनि का सबसे बड़ा चंद्रमा टाइटन (titan) है। जो बुध ग्रह से भी बड़ा है।

यही जानकारी वीडियो के रूप में जानने के लिए यह वीडियो देखिए –

शनि की जानकारी विकिपीडिया