Home Top 5 विश्व के 5 देश जहां मच्छर नहीं पाए जाते हैं

विश्व के 5 देश जहां मच्छर नहीं पाए जाते हैं

47

भारत में तो हम सब मच्छरों से बहुत ज्यादा परेशान रहता है. यहां मच्छर बहुत ज्यादा है और मच्छरों से होने वाले बीमारी भी यहां बहुत ज्यादा है. कारण यह है कि मच्छरों को जीवित रहने के लिए गर्म वातावरण की आवश्यकता होती है जिसकी भारत में कोई भी कमी नहीं है. इसलिए मच्छर यहां पनपते भी बहुत ज्यादा है. यहां पर यानी भारत में कई तरह के जीव पाए जाते हैं जो मच्छरों को खून की कमी होने नहीं देते इसलिए भारत में शायद सबसे ज्यादा मच्छर पाए जाते हैं. पर लेकिन इस आर्टिकल में हम यह जानेंगे की विश्व में वह पांच देश कौन से हैं जहां मच्छर या तो है ही नहीं या हैं भी तो बहुत कम है…..

5.अंटार्कटिका

अंटार्कटिका विश्व का पांचवा सबसे बड़ा महाद्वीप है, लेकिन इतना ज्यादा ठंडा कि यहाँ मच्छर तो क्या कोई साधारण जी भी जीवित नहीं रह सकता. अंटार्कटिका में ही दक्षिणी ध्रुव निहित है और यहां का सबसे कम तापमान माइनस 90 डिग्री सेल्सियस और सबसे ज्यादा तापमान 5 से 15 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच पाता है. जैसा कि हम जानते हैं कि मच्छरों को जीवित रहने के लिए गर्म वातावरण चाहिए होता है. अंटार्कटिका का 98% भाग यानी एक करोड़ 37 लाख 20 हजार किलो मीटर स्क्वायर का भाग 1.6 किलोमीटर बर्फ की मोटी बर्फ से ढका हुआ है. यहां सील, पेंग्विंस और कुछ ठंडे प्रदेश के जीव ही जीवित रह सकते हैं, यहां पर स्थाई निवासी कोई भी नहीं है.

4.सेशेल्स

हिंद महासागर में स्थित इस छोटे से 115 दीप समूह वाले देश में मच्छर नहीं है. इसका कारण यह बताया गया है कि यहां पर प्राकृतिक रूप से स्तनधारी जीव नहीं पाए जाते हैं .एक रिसर्च के मुताबिक मच्छरों को जीवित रहने के लिए स्तनधारियों के खून की आवश्यकता होती है. सेशेल्स अफ्रीका महाद्वीप के सबसे कम आबादी वाली कंट्री है ,यहां केवल 92000 लोग ही रहते हैं और यहां का ही ह्यूमन डेवलपमेंट इंडेक्स अफ्रीका के बाकी देशों से ज्यादा है. यह देश मलेरिया मुक्त देश है.

3.फ्रांस

अगर आपने भी यह कभी सुना है कि फ्रांस में मच्छर नहीं पाए जाते हैं तो आपने यह बात लगभग सही सुना है. लेकिन बहुत ही थोड़े मच्छर फ्रांस के दक्षिणी हिस्से में पाए जाते हैं. तो आप ऐसा कह सकते हैं कि दुनिया के बाकी देशों की तुलना में यहां पर मच्छर कम है. फ़्रांस मच्छर का ना होना इसका कारण यह बताया गया है कि फ्रांस में मैनेजमेंट बहुत ही अच्छा है. जो कि यहां पर पानी को कभी रुकने नहीं देता है. फ्रांस के ही सॉवरेन स्टेट फ्रेंच पोलिनेशिया में भी मच्छर बहुत कम पाए जाते हैं ऐसा कहा जाता है. पर कुछ टूरिस्ट ने यहां बताया है कि यहां पर मच्छर हैं.

2. न्यू केलेडोनिया

न्यू केलेडोनिया दक्षिणी प्रशांत महासागर में ऑस्ट्रेलिया देश के पास है. यह फ़्रांस का आधिकारिक क्षेत्र है. मच्छरों की संख्या यहाँ बहुत कम है, लेकिन बहुत ही कम मछर जो यहां पर हैं, वह जिका वायरस से ग्रस्त है, यहां का मौसम बहुत ही गर्व है.

1. आइसलैंड

आइसलैंड नॉर्थ अटलांटिक ओशन में स्थित एक छोटा सा देश है जो ग्रीनलैंड और यूरोप के बीच में पड़ता है. यहां का तापमान बहुत कम रहता है. मच्छरों को पनपने के लिए हॉट और ह्यूमिड एनवायरनमेंट की आवश्यकता होती है. लेकिन ऐसा नहीं है कि ठंडे प्रदेशों में मच्छर बिल्कुल नहीं होते हैं. आइसलैंड की महासागरीय वातावरण मच्छरों का अपने  से दूर खाड़ी में रहने पर मजबूर कर देती है. एक थ्योरी के मुताबिक आइसलैंड के ठंडे मौसम में यह कीड़े जम जाते हैं, साल भर में केवल एक ही मौसम ऐसा होता है. जब यह पिघलते हैं. दूसरी थ्योरी यह कहती है यहां के पानी और मिट्टी में एक अजीबोगरीब केमिकल कंपोजिशन है. जो कीड़े झेल नहीं पाते .अभी यहां पर यह बात चिंता का विषय बनी हुई है कि यहां पर ग्लोबल वार्मिंग की वजह से कहीं परिस्थितियां बदल ना जाए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here