Home स्वास्थ्य दिन में सोने के नुकसान

दिन में सोने के नुकसान

53

ऐसा कहा जाता है कि दिन काम करने के लिए है और रात सोने के लिए। बहुत से लोग लोग दिन में भी सोते हैं, लेकिन दिन में सोना स्वास्थ्य की दृष्टि से तो हानिकारक है, ऐसा कुछ शोध बताते हैं. लेकिन यह बात उन लोगों पर लागू नहीं होती जो नाइट शिफ्ट में काम करते है। क्योंकि नाइट शिफ्ट में काम करने वालें व्यक्ति जब तक दिन में नहीं सोएगा उसकी नींद पूरी कैसे होगी। परन्तु दिन में सोना एक साधारण व्यक्ति के लिए हितकर नही हैं.

अध्ययन में हुआ इस बात का खुलासा

दिन में सोने वाले लोगों पर एक अध्ययन करने पर यह पाया गया है कि दिन में सोने वाले लोगों को दिल का दौरा पड़ने का खतरा उन लोगों से ज्यादा होता है जो दिन में नहीं सोते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार दिन में सोने वालों में धमनियों की बीमारी के कारण दिल का दौरा पड़ने का खतरा 1-2 प्रतिशत बढ़ जाता है।

एक और अलग शोध में भी यह बात सामने आई है कि दिन में 1 घंटे से ज्यादा सोना स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक है। इस शोध में बताया गया है कि दिन में एक घंटे से ज्यादा सोना नींद से जुड़ी बीमारियों जैसे दिल का दौरा, टाइप टू डायबिटीज और ब्रेन हैमरेज को निमंत्रण देना हो सकता हैं .

दिन में सोने से बढ़ सकता हैं वजन

overweight एक ऐसी समस्या है जो कभी भी शरीर में अकेले नहीं आता है बल्कि और भी बहुत सी बीमारियों को साथ लाता है। और यदि आप दिन में सो जाते हैं तो इसके कारण शारीरिक श्रम में भी कमी आती है, और आलस भी बढ़ने लगता है, जिसके कारण आपको मोटापे जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

हो सकता हैं व्यक्ति को डिप्रेशन 

दिन में ज्यादा देर तक सोने वाले व्यक्ति  को टेंशन और डिप्रेशन होने की सम्भावना ज्यादा होती हैं। बहुत ज्यादा से अधिक सोने से दिमाग की क्षमता घटती है। दिमाग सुस्त हो जाता है, जिससे शरीर की स्फूर्ति खो जाती है। मानसिक स्वास्थ्य अच्छा रहे तो आप अनावश्यक न सोएं और आलस छोड़ें।

बॉडी क्लॉक में हो जाता हैं असंतुलन

ज्यादा सोने से बायोलॉजिक क्लॉक असंतुलित हो जाती है। जिससे व्यक्ति बहुत ज्यादा आलसी हो जाता हैं, दिनभर सुस्ती रहती है, मूड खराब रहता है, सिरदर्द, एकग्रता में कमी, पीठ दर्द और बदन दर्द के साथ-साथ थकान का अनुभव होता है, ब्रेन को ये लगता हैं जैसे सोने का समय अब दिन में हो गया हैं।

अन्य स्वास्थ्य हानि

दिन में सोने से बुखार, मोटापा, गले से जुडी समस्याएं, याददाश्त कमजोर होना, त्वचा से जुड़े रोग, शरीर के अंगों में सूजन और, अपच आदि समस्याएं होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here