Home भूगोल Geography of India in hindi भारत की भौगोलिक स्थितियां

Geography of India in hindi भारत की भौगोलिक स्थितियां

224
geography of india in hindi

भारत की भौगोलिक स्थिति (geography of india in hindi) बहुत ही ज्यादा विविध है. यहां पर बर्फ से ढके पहाड़, ऊंचे पर्वत श्रृंखलाएं, रेगिस्तान, समतल मैदान, पठारी भूमि जैसे सभी भौगोलिक स्थितियां मौजूद है. भौगोलिक रूप से भारत इंडियन प्लेट पर ही मौजूद है. 7000 किलोमीटर से भी ज्यादा लंबे कोस्टलाइन के साथ भारत दुनिया में 15वें नंबर पर आता है. भारत दक्षिण एशिया में मौजूद है, बल्कि दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा देश है. दक्षिण में भारत के हिंद महासागर है, पश्चिम में अरब सागर और दक्षिण पूर्व में बंगाल की खाड़ी मौजूद है, उत्तर में भारत को पर्वतराज हिमालय 2400 किलोमीटर लंबे पर्वत श्रृंखला से घेरे हुए हैं.

फिर बारी आता है भारत के सबसे महत्वपूर्ण भौगोलिक क्षेत्र (geography of india) , भारत का सबसे उपजाऊ जमीन इंडो-गंगेटिक प्लेन (indo-gangetic plane) जो कि अधिकतम उत्तर भारत, मध्य भारत और पूर्व भारत को अपने जद में लेता है. वहीं दक्षिण में दक्कन का पठार अधिकतम दक्षिण भारत को अपने जद में रखता है. पश्चिम भारत में थार का रेगिस्तान अधिकतम भूमि को बंजर बनाता है. वही उत्तर-पूर्व भारत में हिमालय ऊंचे ऊंचे पहाड़ स्थित है और पूर्व में खनिज भंडार मौजूद हैं.

भारत पाकिस्तान चीन बांग्लादेश म्यांमार नेपाल भूटान अफगानिस्तान जैसे देशों से जमीनी रूप से जुड़ता है और भारत का समुद्री क्षेत्र श्री लंका मालदीव्स मॉरीशस थाईलैंड इंडोनेशिया जैसे देशों से लगता है

महाद्वीप एशिया
क्षेत्र दक्षिण एशिया भारतीय प्रायद्वीप
निर्देशांक 20°00’N 77°00′ E
क्षेत्रफल स्थान 7th
3,287,590 km²
1,269,345.60 miles²
90.44% भूमि
9.56% पानी
समुद्र तट 7,516 km (4,670.23 miles)
सीमाएं पूरी ज़मीनी सीमा :
14,103 km (8,763 miles)
बांग्लादेश:
4,053 km (2,520 miles)
भूटान:
605 km (376 miles)
म्यांमार:
1,463 km (909 miles
चीन:
3,380 km (2,100 miles)
नेपाल:
1,690 km (1,050 miles)
पाकिस्तान:
2,912 km (1,809 miles)
उच्चतम बिंदु कंचनजंघा
8,598 m (28,209 ft)
निम्नतम बिंदु कुट्टानाड़
−2.2 m (−7.2 ft)
लम्बी नदी गंगा-ब्रह्मपुत्र
बड़ा झील चिल्का

भारत की स्थिति और विस्तार (Geography of India in hindi)

3,287,590 km² के क्षेत्रफल के साथ भारत दुनिया का सातवाँ सबसे बड़ा देश हैं, और यह दक्षिण एशिया में मौजूद हैं. उत्तर से दक्षिण तक भारत की लम्बाई 3,214 किलोमीटर हैं और पूर्व से पश्चिम तक भारत 2,933 किलोमीटर तक लम्बा हैं. भारत के पास 7,516.5 किलोमीटर का लम्बा समुद्र तट भी हैं.

भारत के राज्य

भारत के कुल 29 राज्य हैं और भारत के कुल 7 केंद्र शासित प्रदेश हैं.

  1. आन्ध्र प्रदेश
  2. अरुणांचल प्रदेश
  3. असम
  4. बिहार
  5. छत्तीसगढ़
  6. गोवा
  7. गुजरात
  8. हरियाणा
  9. जम्मू और कश्मीर
  10. हिमांचल प्रदेश
  11. पंजाब
  12. उत्तराखंड
  13. राजस्थान
  14. मध्य प्रदेश
  15. महाराष्ट्र
  16. उत्तर प्रदेश
  17. झारखण्ड
  18. पश्चिम बंगाल
  19. उड़ीसा
  20. नागालैंड
  21. मेघालय
  22. त्रिपुर
  23. मिजोरम
  24. मणिपुर
  25. सिक्किम
  26. तमिलनाडु
  27. केरल
  28. कर्नाटक
  29. तेलंगाना

भारत के केद्र शसित प्रदेश

  1. अंडमान निकोबार द्वीप समूह
  2. लक्ष्यद्वीप
  3. दमन और दीयु
  4. दद्र और नगर हवेली
  5. पुडूचेरी
  6. चंडीगढ़
  7. दिल्ली

भारत की भौगोलिक स्थितियां (geography of india in hindi)

भारत के भौगोलिक स्थितियों को कुल 7 भागों में बाटा गया हैं. जो भारत के भौगोलिक स्थिति (geography of india) को मजबूत बनाते हैं…

  1. हिमालय का पर्वतीय भाग
  2. उत्तर का विशाल मैदान
  3. थार का रेगिस्तान
  4. मध्य भारत के पहाड़ और दक्कन का पठार
  5. पश्चिमी घाट
  6. पूर्वी घाट
  7. भारत के द्वीप समूह

हिमालय का पर्वतीय भाग

भारत के उत्तर में हिमालय की पर्वतमाला नए और मोड़दार पहाड़ों से बनी है. यह पर्वतश्रेणी कश्मीर से अरुणाचल तक लगभग 2400 किलोमीटर तक फैली हुई है. इसकी चौड़ाई 240 से 320 किलोमीटर तक है. यह संसार की सबसे ऊँची पर्वतमाला है और इसमें अनेक चोटियाँ 8 किलोमीटर से अधिक ऊँची हैं. हिमालय भारत के भूगोल को (Geography of India in hindi) सुरक्षित बनाता हैं. साइबेरिया की ठंडी हवाओं से.

उत्तर का विशाल मैदान

गंगा यमुना के मैदान भारत के सबसे बड़े समतल मैदान हैं और भारत के सबसे उपजाऊ भूमि में (bharat ka bhugol) से एक हैं. यह मैदान गंगा, यमुना, सिंधु और ब्रह्मपुत्र जैसे नदियों के मदद से बने हैं और हिमालय पर्वत की तलहटी पर बसे हुए हैं. भारत के जम्मू कश्मीर राज्य से लेकर पूर्व में असम तक यह मैदान फैले हुए हैं. इस मैदान में पंजाब, हरियाणा, पूर्वी राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल जैसे राज्य आते हैं. और इस समतल मैदान का क्षेत्रफल 7 लाख किलो मीटर स्क्वायर जितना है.

थार का रेगिस्तान

भारत के राजस्थान में स्थित थार का रेगिस्तान जिसे द ग्रेट इंडियन डिजर्ट भी कहते हैं, भारत का एक बहुत ही गर्म मरुस्थल प्रदेश है. यह भारत के गुजरात, हरियाणा और राजस्थान राज्य में स्थित है और इस रेगिस्तान का क्षेत्रफल 2,08,110 किलोमीटर है. यह रेगिस्तान पाकिस्तान में भी फैला हुआ है. इस रेगिस्तान में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से ऊपर भी चला जाता है.

मध्य भारत के पहाड़ और दक्कन का पठार

भारत में मध्य भारत के पहाड़ी से मुख्यतः तीन पठारी भागों में विभाजित है. इनमें से पहला है मालवा का पठार, जो कि पश्चिम में है. दक्षिण में दक्कन का पठार और छोटा नागपुर का पठार जो कि झारखंड में स्थित है पूर्व में. दक्कन का पठार त्रिभुजाकार में फैला हुआ है और इन पठारो की ऊंचाई औसतन 300 से 600 मीटर तक है. छोटा नागपुर का पठार झारखंड में भारत के पूर्व में स्थित है और यह लगभग 65,000 किलो मीटर स्क्वायर का भाग कवर करता है.

पूर्वी घाट के मैदान

पूर्वी घाट के समतल एक चौड़े खिंचाव के रूप में पूर्वी घाट के पहाड़ों से लेकर बंगाल की खाड़ी तक फैले हुए हैं. यह समतल तमिलनाडु से होते हुए पश्चिम बंगाल जो कि उत्तर में है, वहां तक फैला हुआ है. इस समतल में महानदी, गोदावरी, कावेरी और कृष्णा जैसी नदियां आती हैं. यह भारत के भूगोल (geography of india in hindi) का महत्वपूर्ण भाग हैं.

पश्चिमी घाट के मैदान

पश्चिमी घाट के समतल बहुत ही पतली से स्ट्रिप के रूप में यह उत्तर में गुजरात से शुरू होकर महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और केरल तक फैला हुआ है. यह समतल 50 किलोमीटर से लेकर 100 किलोमीटर तक चौड़े हैं. पश्चिमी तटीय मैदान संकीर्ण हैं, इसके उत्तरी भाग को कोंकण तट और दक्षिणी भाग को मालाबार तट कहते हैं. भारत के भौगोलिक क्षेत्र (geography in india in hindi) में काफी औद्योगिकीकरण हैं.

भारत के द्वीप

भारत के प्रमुख 2 द्वीप समूह हैं, लक्ष्यद्वीप समूह और अंडमान-निकोबार द्वीप समूह. लक्ष्यद्वीप द्वीप समूह केरल के तट से 200 से 400 किलोमीटर दूर हैं. और यह 32.69 km2 के क्षेत्रफल में फैला हुआ हैं. अंडमान द्वीप समूह में कुल 204 द्वीप समूह हैं और निकोबार द्वीप समूह में कुल 22 द्वीप समूह स्थित हैं. ये कोलकाता से 950 किलोमीटर दूर हैं.

भारत के पर्वत श्रृंखलाएं

भारत में कुल 7 महत्वपूर्ण पर्वत श्रृंखलाएं हैं और ये भारत के भौगोलिक स्थिति geography of india में बदलाव भी लाते हैं …

हिमालय पर्वत श्रृंखला

हिमालय पर्वत भारत के जम्मू कश्मीर से अरुणाचल प्रदेश तक पश्चिम से पूरब की ओर फैला हुआ है. हिमालय पर्वत श्रृंखला में भारत का हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्य आते हैं. भारत में हिमालय की सबसे ऊंची चोटी कंचनजंगा है, जो कि 8,598 मीटर तक ऊंचा है. हिमालय पर्वत का सबसे निचला हिस्सा शिवालिक कहा जाता है, जो कि लगभग 2 से ढाई किलो मीटर तक ऊंचा होता है.

पटकाई पर्वत श्रृंखला

भारत के उत्तर पूर्व में म्यांमार से सटे हुए हिस्से में पर्वत श्रृंखला को पटकाई पर्वत श्रृंखला कहते हैं. या फिर इसे पूर्वांचल पर्वत श्रृंखला भी कहते हैं. यह पर्वत श्रृंखला भी ठीक उसी तरह बने थे, जैसे हिमालय बना था, भारत और यूरेशिया प्लेट के टकराने से. पटकाई पर्वत श्रृंखला हिमालय जितनी ऊँची नहीं है. इसमें भी बहुत सारी गहरी खाई है और तीखे उतार-चढ़ाव हैं. पटकाई पर्वत श्रृंखला में कुल 3 पर्वत श्रेणियां आती हैं. पटकाई बम, गारो-खासी-जयंतिया और लुशाई हिल्स.

विंध्य पर्वत श्रृंखला

विंध्य पर्वत श्रृंखला भारत के मध्य में स्थित है, जो कि 1,050 किलोमीटर तक लंबा है. यह पर्वत श्रृंखलाएं औसतन 300 मीटर तक ही उची हैं. भौगोलिक रूप से यह पर्वत श्रृंखला उत्तर और दक्षिण भारत को अलग करता है. जो कि भारत के भूगोल (bharat ka bhugol) को खास बनती हैं. पश्चिम में विंध्य पर्वत श्रृंखला गुजरात से शुरू होकर उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में खत्म होती है.

हवा बहने का कारण क्या हैं

सतपुड़ा श्रृंखला

सतपुड़ा श्रृंखला भी भारत के मध्य में स्थित है. जो भारत के भौगोलिक स्थिति (geography of india) को मज़बूत बनती हैं. यह पूर्व में गुजरात से अरब सागर से शुरू होता है और फिर महाराष्ट्र से होते हुए मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में जाकर खत्म होता है. इस पर्वत श्रृंखला की लंबाई 900 किलोमीटर तक है और इस पर्वत श्रृंखला की ऊंचाई 1 किलोमीटर तक भी है. यह पर्वत श्रृंखला विंध्य के बिल्कुल समानांतर है.

अरावली पर्वत श्रृंखला

अरावली पर्वत श्रृंखला भारत की सबसे पुरानी पर्वत श्रृंखला माना जाता है. यह राजस्थान राज्य के उत्तर पूर्व से शुरू होकर दक्षिण पूर्व पर जाकर खत्म होता है. और इस पर्वत श्रृंखला की लंबाई कुल 500 किलोमीटर तक है. उत्तर में यह पर्वत श्रृंखला हरियाणा होते हुए दिल्ली पर जाकर खत्म होता है. इस पर्वत श्रृंखला का सबसे ऊंचा चोटी माउंट आबू है, जो कि 1,722 मीटर तक ऊंचा है.

पश्चिमी घाट का सहयाद्री पर्वत श्रृंखला

पश्चिमी घाट का सहयाद्री पर्वत श्रृंखला भारत के पश्चिमी छोर पर स्थित है. भारत के महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक और केरल राज्य में यह पश्चिमी घाट मौजूद है. यह पर्वत श्रृंखला लगभग 1,600 किलोमीटर लंबी है. इस पर्वत श्रृंखला की औसतन ऊंचाई 1 किलोमीटर तक है. केरल में अनाईमुडी पर्वत सबसे ऊंचा पर्वत है जो कि 2,695 मीटर तक ऊंचा है.

पूर्वी घाट

पूर्वी घाट भारत के पूर्वी छोर पर स्थित है. भारत के उड़ीसा, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में यह पर्वत श्रृंखला स्थित है. और यह बंगाल की खाड़ी के बिल्कुल समानांतर गुजरती है.

geography of india in hindi

भारत की नदियाँ

किसी भी देश को समृद्ध बनाने में वहां पर बहने वाली नदियों का सबसे बड़ा योगदान होता हैं और भारत के भूगोल (bharat ka bhugol) में नदियाँ प्रमुख स्थान रखती हैं. भारत में नदियाँ मुख्यतः 3 पर्वत श्रृंखलाओं से निकलती हैं.

  1. हिमालय और काराकोरम पर्वत श्रंखला
  2. विंध्य और सतपुड़ा पर्वत श्रृंखला
  3. सह्याद्री या पश्चिमी घाट श्रंखला

हिमालय से निकलने वाली नदियाँ हैं गंगा, यमुना,सिन्धु, चिनाब, व्यास, ब्रह्मपुत्र, झेलम आदि

विन्ध्य से निअकलने वाली नदियाँ हैं नर्मदा, केन, बेतवा, चम्बल, सोन, पारबती आदि

सह्याद्री से निकलने वाली नदियाँ हैं गोदावरी, कृष्णा, कावेरी, तुंगभद्रा आदि

geography of india in hindi

भारत का मौसम (climate of india in hindi)

  • शीत ऋतु (Winters)- दिसंबर से मार्च तक, जिसमें दिसंबर और जनवरी सबसे ठंढे महीने होते हैं; उत्तरी भारत में औसत तापमान 10 से 15 डिग्री सेल्सियस होता है.
  • ग्रीष्म ऋतु (Summers or Pre-monsoon) – अप्रैल से जून तक जिसमें मई सबसे गर्म महीना होता है, औसत तापमान 32 से 42 डिग्री सेल्सियस होता है.
  • वर्षा ऋतु (Monsoon or Rainy) – जुलाई से सितम्बर तक, जिसमें सार्वाधिक वर्षा अगस्त महीने में होती है, इनका समय अलग अलग होता है। सामान्यतः 1 जून को केरल तट पर मानसून के आगमन तारीख होती है, इसके ठीक बाद यह पूर्वोत्तर भारत में पहुँचता है और क्रमशः पूर्व से पश्चिम तथा उत्तर से दक्षिण की ओर गतिशील होता है पूर्वी उत्तर प्रदेश में मानसून के पहुँचने की तिथि 18 जून मानी जाती है और दिल्ली में 29 जून. यह भारत के भूगोल (bharat ka bhugol) के लिए सबसे महत्वपूर्ण समय हैं.
  • शरद ऋतु (Post-monsoon ot Autumn)- उत्तरी भारत में अक्टूबर और नवंबर माह में मौसम साफ़ और शांत रहता है और अक्टूबर में मानसून लौटना शुरू हो जाता है, जिससे तमिलनाडु के तट पर लौटते मानसून से वर्षा होती है.;

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here