Home Top 5 भारत का सबसे महंगा बिल्डिंग costliest building in india

भारत का सबसे महंगा बिल्डिंग costliest building in india

costliest building in india – आगरा के ताजमहल ने एक बार फिर कमाई के मामले में पहला स्थान प्राप्त किया है.

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक

भारत के टॉप 5 राजस्व पैदा करने वाले स्मारकों की सूची में प्यार की निशानी ताजमहल के अलावा,

आगरा का किला, कुतुब मीनार, फतेहपुर सीकरी और लाल किला क्रमानुसार शामिल है।

लेकिन इन सब कमाई कितनी की हैं, आगे जानिये….

1. ताज महल (costliest building in india) –

costliest building in india

ताजमहल ने सबसे ज्यादा 56.83 करोड़ रुपये की कमाई की है।

इसका निर्माण मुग़ल सम्राट शाहजहाँ ने, अपनी पत्नी मुमताज़ महल की याद में करवाया था.

ताजमहल इमारत समूह की संरचना की खास बात है, कि यह पूर्णतया सममितीय है।

इसका निर्माण सन् 1648 के लगभग पूर्ण हुआ था। उस्ताद अहमद लाहौरी को प्रायः इसका प्रधान रूपांकनकर्ता माना जाता है।

2. आगरा का किला (costliest building in india) –

costliest building in india

30.55 करोड़ रुपये की कुल कमाई के साथ आगरा के किले ने कमाई के मामले में दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

आगरा का किला एक यूनेस्को द्वारा घोषित विश्व धरोहर स्थल है।

यह मूलतः एक ईंटों का किला था, जो चौहान वंश के राजपूतों के पास था।

इसका प्रथम विवरण 1080 ई० में आता है.

3. क़ुतुब मीनार –

23.46 करोड़ की कमाई के साथ दिल्ली कुतुब मीनार तीसरे नंबर पर हैं।

कुतुब मीनार भारत में दक्षिण दिल्ली शहर के महरौली भाग में स्थित, ईंट से बनी विश्व की सबसे ऊँची मीनार है।(costliest building in india)

इसकी ऊँचाई 72.5 मीटर (237.86 फीट) और व्यास 14.3 मीटर है,

जो ऊपर जाकर शिखर पर 2.75 मीटर (9.02 फीट) हो जाता है।

भारत का सबसे बड़ा जिला

4. फ़तेहपुर सीकरी –

19.04 करोड़ रुपये की कमाई के साथ फतेहपुर सीकरी चौथे पर हैं।

फतेहपुर सीकरी एक नगर है जो कि आगरा जिला का एक नगरपालिका बोर्ड है।

बुलंद दरवाज़ा फ़तेहपुर सीकरी में अकबर के समय के अनेक भवनों, प्रासादों तथा राजसभा के भव्य अवशेष आज भी वर्तमान हैं।

5 . लाल किला –

costliest building in india

16.17 करोड़ रुपये की कमाई के साथ लाल किला पांचवें नंबर पर है। (costliest building in india)

लाल किला या लाल क़िला, दिल्ली के ऐतिहासिक, क़िलेबंद, पुरानी दिल्ली के इलाके में स्थित, लाल बलुआ पत्थर से निर्मित है।